बच्चों को सिखाएं अच्छी सेहत के लिए अच्छी आदतें | Babies ko acchi aadat)

माता-पिता की जिम्मेदारी होती है। कि अपने बच्चों को अच्छी आदतों के बारे में बताएं 4 साल के बच्चे में इतनी समझदारी नहीं होती है।  कि वह अपने आपसे अच्छी बातें सीख पाए इसलिए घर में जो बड़े होते हैं। उनकी जिम्मेदारी बनती है बच्चों को अच्छी आदत सिखाएं बचपन में सीखे हुए आते याद  रहती हैं। बच्चों को अच्छी आदतें कैसे सिखाएं (Babies ko acchi habit kaise sikhaye) इसके विषय में अक्सर माता-पिता को जानकारी नहीं होती ।

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपके बच्चों के लिए अच्छी आदतें सीखने के उपाय(Babies ko acchi habit sikhane ke upay)के विषय में बताएंगे। यदि आप भी इस विषय में जानकारी चाहते हैं तो हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़े ।

बच्चों को अच्छी आदतें सीखने के उपाय 

बच्चों को सिखाएं अच्छी सेहत के लिए अच्छी आदतें Babies ko acchi aadat)

बचपन में किसी के लिए आते हैं। हर (Babies ko acchi habit kaise sikhaye)क्षेत्र में विकास करती हैं। इसलिए माता-पिता की जिम्मेदारी बनती हैं। कि वह अपने बच्चों को कुछ ना कुछ नया सीखने का प्रयत्न करें जिससे बच्चा आगे याद रखें। तो आज हम आपको एफएसएसएआई के द्वारा प्रकाशित येलो बुक के द्वारा अच्छी बातें अच्छी बातों को सिखाएं।

  • बच्चों को खाना खाने से पहले हाथ देना सिखाएं।
  • बच्चों को रोज नहाना सिखाएं।
  • बच्चों को रो दांत साफ करना सिखाए।
  • बच्चों को बताएं कीटाणु कैसे फैलते हैं।
  • बच्चों को शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना सिखाएं।

1. बच्चों को खाना खाने से पहले हाथ धोना दिखाएं

जब भी बच्चा बाहर से खेल के आया खाना खाने जाए तो आपको ध्यान रखना चाहिए। कि बच्चे ने हाथ धोने हैं या नहीं अगर नहीं धूल तो आपको बताना चाहिए। कि बाहर से बच्चा आया है।

 तो उसको हाथ धुलाई जाए तथा खाना खाने के समय आपको एक बार देखना चाहिए कि बच्चों में सही से हाथ साफ किए हैं या नहीं। इससे हम बच्चे वह बीमारी से बचा सकते हैं जिससे बच्चा हमारा स्वस्थ है

2. बच्चों को रोज नहाना सिखाएं

हमें बच्चों को रोज नहलाना चाहिए से बच्चा बाहर खेलने जाता है। बाहर हर तरह का कीटाणु होता है जो कि बच्चों में प्रवेश कर लेता है। अगर बच्चा टाइम से नहाता रहे तो उसको क्या नुकसान नहीं पहुंच पाता। इसलिए माता-पिता को ध्यान रखना चाहिए हम अपने बच्चों को डेली नहलाना चाहिए जिससे हमारा बच्चा स्वस्थ रहे.

3. बच्चों को रोज दांत साफ करना सिखाए

सुबह उठते ही हमें ध्यान रखना चाहिए कि हमारे बच्चे में ब्रश किया है कि नहीं। बच्चा सब बच्चे सब कुछ कहते हैं जैसे बच्चों के दांत खराब होने की संभावना रहती है। बच्चों को मीठा ज्यादा पसंद होता है।

 इसलिए हमें ध्यान रखना चाहिए कि बच्चों के दांत साफ रहे हमें देरी होने ब्रश करना चाहेंगे। रात को सोते समय भी हमें ब्रश कराकर सुलाना चाहिए मुझे हमारे बच्चों की बात खराब ना हो

4. बच्चों को बताएं कीटाणु कैसे फैलते है

अगर बच्चा कहीं बाहर खेल रहा है तो हमें बच्चों को बता देना चाहिए कि कहीं भी गंदी जगह है। तो वहां नहीं जाना चाहिए। क्योंकि वहां कीटाणु होते हैं। जिस वजह से हमारा बच्चा बीमार पड़ सकता हैं। इस बात की जानकारी हमें बच्चों को देनी चाहिए कि बाहर से कभी भी आए तो हमें हाथ में लेना चाहिए। इससे अगर कहीं नहीं होता ऐसी जगह गया है उसकी बॉडी में प्रवेश न कर सके।

अपने बच्चों को कीटाणुओं के विषय में जानकारी दें

बच्चों को कीटाणु के विषय में (Babies ko germs ki jankari) जागरूक करना बहुत ज्यादा आवश्यक है। क्योंकि  यदि उन्हें उनके विषय में जानकारी होगी तभी बह से सतर्क रह पाएंगे। और आप उन्हें उनके कारण होने वाली बीमारी से भी बचा सकते हैं।

  • कीटाणुओं का साइज देखने में बहुत छोटा होता हैं। यह हमारी आंखों से नहीं देखी जा सकते। इनको देखने के लिए माइक्रोस्कोप का इस्तेमाल किया जाता है। आंखों से नहीं  पाने के कारण यह शरीर के भीतर प्रवेश कर जाते हैं और यह हमारे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं।
  • कीटाणु हर जगह मौजूद होते हैं आंखों से दिखाई ना देने के कारण हमें उनके विषय में जानकारी नहीं मिल पाती। इनको मनुष्य की आंखों से देखना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है।
  • कीटाणु विभिन्न प्रकार के होते हैं कुछ कीटाणु शरीर को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं। और कुछ करने इतना अधिक नुकसान नहीं पहुंचते। इसलिए हमें हमेशा कीटाणुओं से बचकर रहना चाहिए।
  • यदि कीटाणुओं को खान-पान या कृषि ऐसी जगह मिल जाए जो खान-पान से संबंधित हो और गर्माहट प्रदान होती रहे तो यह बहुत तेजी से फैलते हैं। और शरीर को बहुत जल्दी बीमार करते हैं।
  • शरीर के अंदर ऐसा स्थान जहां पर किचन कीटाणु सबसे ज्यादा पाए जाते हैं वह है कोनी और गार्डन यह ऐसे सेल्स होते हैं।
  • जहां पर डेड स्किन सेल्स पाई जाती हैं और कीटाणु भी यहां पर आकर बस जाते हैं। नहाते समय हमें शरीर के इन भागों को अवश्य साफ करना चाहिए।

अपने बच्चों को अच्छी आदतें सिखाएं

बचपन से ही यदि हम अपने बच्चों (Babies ko acchi aadat sikhayen) को अच्छी आदतें सीखते हैं। तो वह बड़े होकर भी उनके साथ चलती हैं। और वह सबके साथ अच्छी तरीके से व्यवहार करते हैं।

 इससे आपके बच्चे की ख्याति समाज में बढ़ती है और उसे एक अच्छा बच्चा माना जाता हैं। अपने बच्चों को किन आदतों को आप सिखा सकते हैं उसके विषय में नीचे जानकारी प्रदान की गई है।

  • अपने बच्चों को आपको यह जरूर सीखना चाहिए की टॉयलेट के बाद उसे अपने हाथों को अच्छे से साफ करना चाहिए। यह एक जरूरी बात होती हैं। क्योंकि सोच के बाद हाथों में कीटाणु लग जाते हैं जिनको साफ करना बहुत ज्यादा आवश्यक होता है।
  • हमें बच्चों को रोज नहाने की आदत डलवानी चाहिए। बचपन से ही माता-पिता को यह नहीं करना चाहिए। कि वह अपने बच्चों को नहाने से रोक ऐसा करने से बच्चे की आदत खराब हो जाती हैं। और वह रोज नहाना नहीं चाहता।
  • बच्चों को स्वच्छ कपड़े और जूते पहनने की अहमियत सीखनी चाहिए। उसे यह बताना चाहिए कि यदि हम स्वच्छ रहेंगे तो समझ में हमारी क्या अहमियत पड़ेगी।
  • और इससे हमारे स्वास्थ्य पर भी अच्छा प्रभाव पड़ेगा इसलिए स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना बच्चे को बचपन से ही सीखना चाहिए।
  • बच्चों को बालों में कंघी करना सिखाए उन्हें सीखने की बालों को हमेशा कुंभ करके रखना चाहिए। और बच्चों को नहाने के विषय में बताएं कि वह अपने शरीर के अलावा अपने नाक कान हाथों को भी अच्छे से साफ करें।जिससे हमारे शरीर में भोजन जाता है यदि वही गंदे रहेंगे तो हमारा शरीर भी रोग ग्रस्त हो सकता है।
  • बच्चों की बचपन से ही है आधा डलवाने चाहिए कि दिन में वह दो बार ब्रश करें। यदि बचपन से ही बच्चे की है आदत पड़ जाती है तो बड़े होकर भी वह दिन में दो बार ब्रश करना जरूर सीख जाता है ।
  • बच्चों को नाखून हमेशा कटे रखने की सलाह देनी चाहिए यदि उन्हें समझना चाहिए कि नाखूनों में गंदगी भर जाती है। और जब हम खाना खाते हैं। तो वही गंदगी हमारे मुंह के अंदर पहुंच जाती है जिससे शरीर में बहुत सारे रोग हो सकते हैं। और हम बहुत ज्यादा बीमार पड़ सकते हैं इसलिए नाखून को हमेशा कटा हुआ रखें।
  • यदि हमारे शरीर पर कोई घाव है तो हमें उसे हमेशा ढक कर रखना चाहिए। क्योंकि यदि मक्खियों उसे पर बैठ जाएगी तो वह और ज्यादा बढ़ जाएगा। और इससे हमें बहुत सारी दिक्कतें हो सकती।

अपने बच्चों को बताएं कि कीटाणु कैसे फैलते हैं

यदि आप अपने बच्चों को (Babies ko germs se kaise bachaye)इस विषय में जानकारी देंगे कि कीटाणु बच्चों में कैसे फैलते हैं। तो वह उन चीजों के विषय में ध्यान रखेगा और सतर्क रहेगी। कीटाणु को न फैलने देने की कुछ उपाय नीचे बताए गए हैं इसके विषय में जानकारी आप अपने बच्चों को दे सकते हैं।

1. दूषित खाना :

यदि सफाई के साथ खाने का निर्माण नहीं किया जाता और गंदे पानी का इस्तेमाल किया जाता हैं। तो खाना दूषित हो जाता है यदि सब्जियों को भी अच्छे से धुल कर साफ कर कर नहीं बनाया जाता। तो उसमें कीटाणु रह जाते हैं। और यह खाना बिल्कुल ही दूषित होता हैं।

 शरीर में सबसे ज्यादा बीमारी दूषित खाना खाने से लगती है इसलिए खाना खाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कि उसे पूरी तरीके से साफ माहौल में बनाया गया है या नहीं यदि खाना दूषित है तो कभी भी उसका सेवन नहीं करना चाहिए।

2. गंदे हाथ :

बंदे हाथों का इस्तेमाल खाना खाते समय हमें नहीं करना चाहिए। गंदे हाथों का इस्तेमाल यदि हम करते हैं तो कीटाणु हमारे मुंह से हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। यह कीटाणु शरीर के नर्वस सिस्टम को कमजोर करते हैं। 

और हमारे इम्यून सिस्टम को भी वीक करते हैं। जिसके कारण हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती हैं। और हम बहुत जल्दी बीमार पड़ते हैं। खाना खाने से पहले हमेशा अपने हाथों को सैनिटाइजर या हैंड वॉश से अवश्य साफ करना चाहिए।

 हम बहुत सारी गंदी चीजे को छूते हैं। जिसके कारण बहुत सारे कीटाणु हमारे हाथों में लग जाते हैं इसलिए गंदे हाथों का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

3. मल :

यदि गंदे हाथों का इस्तेमाल करके आपका खाना निर्माण किया गया है या अपने साफ पानी से अपनी सब्जियों को नहीं धुला हैं। तो भी आपका खाना दूषित हो जाता हैं। इसलिए बिल्कुल साफ पानी का इस्तेमाल करना चाहिए और मल मूत्र का त्याग करने के बाद हमें अपने हाथों को बिल्कुल साफ करके धुलना चाहिए।

4. फोमीटस :

बिना धुले बर्तन उपकरण दरवाजे नलको आदि चीजों में कीटाणु लगे होते हैं। जो तौलिया पूरे घर के द्वारा इस्तेमाल किया जाता हैं। उसमें भी बहुत सारे कीटाणु लगे होते हैं इन चीजों का इस्तेमाल हमें ज्यादा नहीं करना चाहिए।

 इन्हें बार-बार हमें वश करना चाहिए और कीटाणुओं से मुक्त करना चाहिए यह ऐसे उपकरण है। जिनका हमें डेली डेली लाइफ में इस्तेमाल करना जरूरी होता हैं। इसलिए इन चीजों का इस्तेमाल साफ कर कर ही करना चाहिए।

5. कीड़े मक्खियों :

मक्खी कॉकरोच चूहा और पालतू जानवरों से कीटाणु बहुत जल्दी फैलते हैं। इनको छूने के बाद हमें अपने हाथों को जरूर वॉश करना चाहिए।

अपने बच्चों को अच्छे से हाथ धोने की आदत सिखाएं

हमें अपने बच्चों को अच्छे(Babies ko hand wash aadat sikhayen) से हाथ धोने की आदत सिखाना बहुत ज्यादा जरूरी हैं। बहुत सारी बीमारियां गंदे हाथों से खाना खाने की वजह से होती हैं।

 यदि हमारे हाथ गंदे होते हैं तो हमारा शरीर कीटाणुओं के संपर्क में आ जाता है और वह बीमार पड़ जाता हैं। इसलिए हमें साफ करके हाथ धोना बहुत ज्यादा जरूरी है। हम साफ हाथ कैसे बन सकते हैं उसके विषय में नीचे जानकारी दी गई है।

  • सबसे पहले साबुन लेकर हमें अपनी हथेलियां को साफ करना चाहिए। हथेली के बीच में अच्छे से रगड़ना चाहिए।
  • इसके पश्चात हमें सावन को उंगलियों के बीच में अच्छे से साफ करना चाहिए। हमें उंगलियों के बीच में अच्छे से रगड़ रगड़कर साफ करना चाहिए
  • अंगूठे को अच्छे से रगड़े नाखूनों को अच्छी तरीके से साफ करें पीछे हथेलियां को नाखूनों से रगड़ रगड़ साफ करें।
  • अपनी कलाई को अच्छे से साफ करें उसके बाद अपने हाथों को अच्छे से धो लें।
  • दोबारा साबुन का इस्तेमाल करें और साधारण रूप से अपने हाथों को साफ कर ले उसके बाद साफ तो लिए और टिशू पेपर का इस्तेमाल करके आप अपने हाथों को साफ कर तरीके से पूछ ले।

बच्चों को शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना सिखाए

हम अपने बच्चों को शारीरिक रूप (Babies ko healthy rakhna sikhaye) से स्वस्थ कैसे रख सकते हैं। उसके विषय में भी हमें अपने बच्चों को अच्छी तरीके से बताना चाहिए। क्योंकि स्वस्थ रहने पर ही बच्चे अपने जीवन के सभी कार्यों को मन लगाकर कर पाएंगे। और अपने जीवन में उच्च उन्नति को प्राप्त कर पाएंगे।

  • बच्चों को रात में जल्दी सोने की आदत डलवाए रात में जल्दी सोने से बच्चे को 8 घंटे की नींद मिल पाएगी और वह दिन भर फ्रेश महसूस करेगा। और पूरे दिन चुस्त महसूस करेगा।
  • चुस्त रहने के लिए बच्चों को रोज व्यायाम करने की आदत डलवाए। बच्चों को रोज 45 से 50 मिनट तक व्यायाम करने की आदत डलवाने चाहिए जिससे उसके शरीर स्वस्थ रह सके।
  • इसके अलावा बच्चों के अंदर एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज की भी आदत डलवानी चाहिए। जैसे डांसिंग स्विमिंग आदि।चीजों की आदत बच्चों को अवश्य डलवाए यह एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज बच्चे का विकास करने में उसकी मदद करती हैं और उसके इंटरेस्ट को भी जाग्रत करती हैं ।

टॉपिक से संबंधित प्रश्न एवं उनके उत्तर (FAQ) 

Q. बच्चों को सफाई के बारे में कैसे बताना चाहिए? 

 बच्चों को हाथ डालना हुआ रोज नहाना सीखना चाहिए जिससे बच्चे साफ रहे।

Q. बच्चों को फ्रेश रहना कैसे सिखाया जाए? 

टाइम से सोने पर बच्चे सुबह अपने आप को फ्रेश महसूस करता है ऐसे उसकी बॉडी एकदम फ्रेश बनी रहती है।

Q. बच्चों मे किस उम्र  से अच्छी आदत डालना चाहिए? 

बच्चों को कम उम्र में अच्छी आदत सीखना चाहिए यह आते बच्चों को ता उम्र में याद रहती है।

Q. बच्चे किसके कारण बीमार पड़ते हैं? 

बच्चे कीटाणुओं के कारण बीमार पड़ते हैं।

निष्कर्ष :

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बच्चों को सिखाएं अच्छी सेहत के लिए अच्छी आदतें (Babies ko acchi habit kaise sikhaye) के बारे में जानकारी देने का पूरा प्रयास किया है। यदि फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न हो तो नीचे गए कमेंट बॉक्स में आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

हमारे आर्टिकल के द्वारा प्रदान की जाने वाली जानकारी बिल्कुल ठोस तथा सटीक होती है। यदि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आए तो आप इसे अवश्य शेयर करें। हमारा आर्टिकल पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment