बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट कैसे बनाएं?

माता-पिता अपने बच्चों से बहुत प्रेम करते हैं। वह चाहते हैं कि उनका बच्चा समाज में कभी पीछे ना रहे समाज के हिसाब से  कदम मिलाकर चले और हमेशा अपने जीवन में अच्छा और क्रिएटिव कम करें। और सभी उसकी तारीफ करें सभी माता-पिता अपने बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट देखना चाहते हैं सभी चाहते हैं कि उनका बच्चा इतना इंटेलिजेंट हो कि वह किसी भी सवाल का उत्तर झट से दे पाए। परंतु बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट कैसे बनाएं (Baccho ko smart aur intelligent kaise banayen)उसके बारे में अक्सर पेरेंट्स को जानकारी नहीं होती। 

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपके बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनने के तरीकों (Baccho ko smart aur intelligent bnane ke tarike)के विषय में बताएंगे। यदि आप भी इस विषय में जानकारी चाहते हैं तो हमारे आर्टिकल को अंत तक पड़े। 

बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनने के तरीके

बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट कैसे बनाया (Baccho ko smart aur intelligent bnane ke tarike)जा सकता है ऐसे क्या-क्या तरीके अपनाए चाहिए। जिससे उनका बच्चा बहुत क्रिएटिव स्मार्ट और इंटेलिजेंट हो उसके विषय में नीचे जानकारी प्रदान की गई हैं। जिनके माध्यम से आप यह पता लगा सकते हैं कि आप अपने बच्चों को एक स्मार्ट बच्चा कैसे बना सकते हैं। 

बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट कैसे बनाएं

1.बच्चों को स्मार्ट बनने के लिए करें बच्चे टॉक :

बच्चों को स्मार्ट बनने के लिए बेबी टॉक एक बहुत महत्वपूर्ण साधन होता हैं। बेबी टॉक एक प्रक्रिया है जिसमें बातचीत के माध्यम से बच्चों के बुद्धिमत्ता को बढ़ाने में मदद मिलती हैं। बातचीत करने से बच्चे अपने संज्ञान में चीजों को ग्रहण करते हैं और वह भी सामने वाले से बात करने का प्रयास करते हैं।

 बच्चे टॉक करने से बच्चों के अंदर विकास होता है और आपके अंदर भी आत्मसम्मान और आत्मविश्वास का विकास होता हैं। बच्चे बच्चे टॉक करने से चीजों को समझना शुरू कर देते हैं। और धीरे-धीरे स्मार्ट बनना शुरू हो जाते आप अपने बच्चों को विभिन्न तरीके की वर्णनात्मक क्रियो में शामिल कर सकते हैं।

 जिसमें उसे विभिन्न तरीके की चीज बोलने का अवसर प्राप्त होता हैं। आप अपने बच्चों से सवाल पूछ सकते हैं कि वह क्या कर रहा है वह क्या पसंद करता हैं। उसे किन चीजों को करने में मजा आता हैं। इस प्रकार के सवाल करने से बच्चे की वर्णमाला ठीक होती है। और जिन वर्णों को वह अपने संज्ञान में नहीं ला पाया है। उन वर्णों को अपने संज्ञान में लाता है और एक स्मार्ट बच्चा बनता है। 

2. आयु उपयुक्त सरल खिलौने के साथ खेलने दे :

बहुत सारी खिलौने बनाने की कंपनियां ऐसी हैं। जो बच्चे की आयु को ध्यान में रखते हुए और उनकी बौद्धिक क्षमता के विकास को ध्यान में रखते हुए खिलौनों का निर्माण करते हैंडल खिलौने का निर्माण इस प्रकार से किया जाता है।

 जिससे बच्चे का दिमागी विकास हो और वह नई चीजों को सीख पाए परंतु बहुत सारी कंपनियां ऐसी हैं जो ऐसे खिलौने का निर्माण करती हैं। जो बच्चे को सिर्फ निराश करता है। इसलिए हमें ऐसे खिलौने का चुनाव करना चाहिए।

 जिससे हमें यह प्रतीत हो कि इससे हमारे बच्चे का बौद्धिक विकास हो रहा है। ऐसे बहुत सारे खिलौने हैं। जिन्हें स्कूल के द्वारा भी रिकमेंड किया जाता है जो बच्चे के दिमाग को विकास करने में मदद करती हैं। 

3. बच्चों को देंगे खुलकर स्नेह तो बच्चा बनेगा इंटेलिजेंट :

यदि आप अपने बच्चों को खुलकर प्रेम और स्नेह देते हैं। तो आपका बच्चा धीरे-धीरे इंटेलिजेंट बन जाता है और स्मार्ट बनता है क्योंकि आपका बच्चा इमोशनली स्टेबल होता है। उसे अपने अंदर यह विश्वास होता है कि उसके माता-पिता उसे बहुत प्रेम करते हैं। तो वह आत्मविश्वास से भरा रहता है।

 और अपने दिमागी विकास को अच्छा कर पता है। यदि बच्चे को आसपास के वातावरण में एक सुकून भरा और खुशी का माहौल मिलता है। तो बच्चा अपने दिमाग की रोग से शांत रहता है और धीरे-धीरे अपनी क्रिएटिविटी की ओर ध्यान देने लगता है। परंतु यदि बच्चे को और किसी बात की चिंता होती है तो वह अपने दिमागी विकास की ओर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाता। 

इसलिए बच्चों को खुलकर स्नेही देने की आवश्यकता होती है। आपको अपने बच्चों से स्नेह दिखाने के लिए उसके साथ समय बताएं उसे खेले हैं। उसे प्रेम करें जिसे उसे महसूस हो कि आप उसे कितना प्रेम करते हैं तभी वह स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनेगा। 

4. स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनने का तरीका बच्चों के साथ खेले :

बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनने के लिए आप उनके साथ बहुत तरीके के खेल खेल सकते हैं। खेल खेलने से बच्चों को नई नई चाहिए कुछ सीखने का मौका मिलता हैं। और नए-नए तरीके विकसित होते हैं। आपके बच्चे के साथ ऐसे खेल का चुनाव करना चाहिए।

 जो बच्चे को नई दिशा दिखाएं नई चीजों की पहचान कारण यदि आप ऐसे खेल बच्चों के साथ कर खेलते हैं। तो बच्चे कैसे संज्ञान में नई-नई चीज आती हैं और वह मानसिक रूप से विकसित होता है। आप अपने बच्चों के साथ नए-नए तरीके के नाटक कर सकते हैं। इन नाटकों में नए-नए संदेश होते हैं अच्छा बुरा समझने की दिशाएं होती हैं।

 क्या व्यक्ति को करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। यह नाटकों के माध्यम से अच्छी तरीके से बच्चे को समझाया और समझाया जा सकता हैं। उसे समझ में आता है कि जीवन में क्या ठीक है और क्या नहीं इस तरीके से खेल-खेलकर बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट बनाया जा सकता है। 

5. बच्चों को स्मार्ट बनने के लिए उसके साथ पड़े :

किताबें बच्चों की सोचने समझने और उसके विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। किताबें बच्चों को नई दिशा दिखाती हैं इसलिए आपको यह जरूरी है। बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए और नई बच्चों में विकसित करने के लिए आपको रंग-बिरंगे किताब का चुनाव करना चाहिए।

 किताब ऐसी हो जिसमें चमकीले पदार्थ लगे हो जो बच्चे को बहुत अट्रैक्ट करें और किताब के अंदर भी बड़े-बड़े चित्र बने हो। जिसे देखकर बच्चा मन में प्रोत्साहित हो और उसे देखने की और पढ़ने की लालसा जागृत हो। बच्चे के साथ आप भी उसके साथ किताब को पढ़ सकते हैं। 

यह बच्चे को बहुत उत्साहित करती है और नई-नई चीजों को समझने में भी उसकी मदद करती है। जितना ज्यादा आप बच्चे को किताब के सामने बैठा लेंगे। और वह नहीं-नई चीजों को देखेगा उतना ही ज्यादा वह नई-नई चीजों के प्रति लालसा विकसित करेगा और उसे पढ़ने का प्रयास करेगा। 

6. बुद्धिमान बने अन्य बच्चों के साथ बातचीत करना :

बच्चा जब सोशली अपने आसपास के लोगों से या अपने दोस्तों से इंटरेक्ट करता है तो बच्चे का सामाजिक विकास हो पता है। और धीरे-धीरे बच्चा क्रिएटिव और इंटेलिजेंट बन पाता है। जब बच्चा अपने यार दोस्तों के साथ बातचीत करता है और उसे अपने एक्सपीरियंस शेयर करता है।

 तो बच्चे को सामने वाले के भी एक्सपीरियंस सुनने को मिलते हैं जिसे उसे नई-नई चीज पता लगते हैं। और उसे नई-नई चीजों के बारे में ज्ञान होता है। बच्चों के बहुत सारे दोस्त बच्चों को अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित भी करते हैं।

 आपके बच्चे के ऐसे दोस्तों पर निगरानी रखनी चाहिए और और अच्छे दोस्त बनाने की सलाह बच्चों को देनी चाहिए। या आप अच्छे दोस्त बनाने में बच्चों की मदद भी कर सकते हैं। 

7. स्मार्ट बनने का उपाय उसकी जिज्ञासा को प्रोत्साहित करें :

बच्चों का दिमाग और मन बिल्कुल साफ होता है। उन्हें नई चीजों के विषय में बिल्कुल भी ज्ञान नहीं होता इसलिए वह नई चीजों को सिखाने में बहुत ज्यादा उत्सुक रहते हैं। यदि आप बच्चे को जिज्ञासु बनाना चाहते हैं। तो हमेशा उन्हें नई-नई चीजों को सीखने के अवसर प्रदान करते रहने चाहिए।

 जब आपको लग रहा है कि आपका बच्चा कुछ नया और अच्छा कर रहा है तो हमेशा उसकी तारीफ करनी चाहिए और उसे आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करना चाहिए। ऐसा करने से बच्चा स्मार्ट बनता है।

 और बच्चे के अंदर नई-नई के के आसान उत्पन्न होती हैं उसके सामने यदि कोई बैरियर नहीं आते तो वह नई-नई चीजों को सीखने के लिए प्रोत्साहित होता है। 

8. स्मार्ट बनने के लिए टेक्नोलॉजी टूल और टीवी को कम करें  :

टीवी और स्मार्टफोन पर ऐसे बहुत सारे कार्यक्रम आते हैं। जो बच्चे के लिए अच्छे होते हैं और उन्हें बच्चों को दिखाने से बच्चे का ज्ञान बढ़ता है। परंतु हमें सावधानी पूर्वक बच्चों को टीवी या स्मार्टफोन दिखाना चाहिए।

 हमें बच्चों के टीवी का समय सीमित कर देना चाहिए। क्योंकि यदि बच्चा ज्यादा समय टीवी या स्मार्टफोन टूल्स के आगे बताने लगेगा तो यह बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है। आपको टीवी या स्मार्टफोन टूल्स का रेगुलेशन पूरा तरीके से बच्चों के हाथ में नहीं देना चाहिए।

 जितना जरूरी है उतरी चीजों को ही बच्चे को दिखाने के बाद उन्हें उससे दूर कर देना चाहिए। आपको अपने बच्चों को ज्यादा मोबाइल है टैबलेट्स नहीं देनी चाहिए। मोबाइल से निकलने वाली यूवी रेडिएशन बच्चों की आंखों पर पढ़कर उसकी आंखों को हानिकारक प्रभाव पहुंचती हैं। इसलिए बच्चों को फोन न देकर ज्यादा से ज्यादा शारीरिक माध्यम से चीजों को सीखने के लिए प्रोत्साहित करें। 

9. बच्चों को बुद्धिमान बनने के लिए उसे कहानी सुनाएं :

यदि आप अपने बच्चों को बुद्धिमान बनाना चाहते हैं तो उसे बचपन से ही कहानी सुननी चाहिए। कहानी सुना बच्चे को बहुत पसंद होता है परिवार के बड़े बूढ़े बच्चे को रोज शाम को परियों की वीर लोगों की सैनिकों की या चूहा बिल्लियों की कहानी सुनाते हैं।

 बच्चों का मन बिल्कुल नया होता है उसमें हर चीज भरने की आवश्यकता होती हैं। इसका तात्पर्य होता है कि उसे हर चीज सीखनी होती हैं। पहले से उसे किसी भी चीज का ज्ञान नहीं होता जब बच्चे को कहानी सुनाई जाती हैं तो वह एक अलग ही कल्पना की दुनिया में पहुंच जाता हैं।

 और चीजों को अपने मन में इमेजिन करने लगता हैं। चीजों को अपने मन में इमेजिन करने से बच्चे की इंटेलीजेंस पावर बढ़ती है और धीरे-धीरे बच्चा स्मार्ट होता जाता है। यदि आप अपने बच्चों को स्मार्ट बनना चाहते हैं तो उसकी पसंद का ध्यान रखें और उसे बेड टाइम स्टोरी अवश्य सुनाएं। 

टॉपिक से संबंधित प्रश्न एवं उनके उत्तर (FAQ) 

Q. बच्चों को स्मार्ट बनना क्यों महत्वपूर्ण है? 

यदि बच्चा स्मार्ट होगा तो वह अपने फ्यूचर का ध्यान रख पाएगा और अपने भविष्य में अच्छा कर पाएगा। 

Q. बच्चों को इंटेलिजेंट बनने के लिए क्या कर सकते हैं? 

बच्चों को इंटेलिजेंट बनने के लिए बेड टाइम टॉक कहानी गेम्स आदि चीज खिला सकते हैं। 

Q. बच्चों को कैसे खिलौने के साथ खेलने देना चाहिए? 

बच्चों को हमेशा ऐसे खिलौने के साथ खिलाए जो बच्चों के दिमाग को विकास करने में मदद करें। 

Q. हमें अपने बच्चों को ज्यादा स्मार्टफोन क्यों नहीं देनी चाहिए? 

स्मार्टफोन बच्चों के विकास को बाधित करते हैं और उसकी आंखों को भी नुकसान पहुंचाते हैं। 

निष्कर्ष :

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बच्चों को स्मार्ट और इंटेलिजेंट कैसे बनाएं (Baccho ko smart aur intelligent Kaise banayen? L)के विषय में जानकारी देने का पूरा प्रयास किया है। यदि फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप कमेंट करके कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

हमारे आर्टिकल के द्वारा प्रदान की हुई जानकारी बिल्कुल ठोस और सटीक है ।अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आए तो आप इसे अवश्य शेयर करें । हमारा आर्टिकल पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment